Dream life struggle short poem in hindi

Dream और life दोनो ने ऐसी race लगाई ,
Dream और life दोनो ने ऐसी race लगाई ,
Dream आगे भागी और जिन्दगी को पीछे छोड़ आयी ।

सब जगा गौर अन्देरा था ,
दोस्तो सब जगह गौर अन्देरा था ,
कही कोई उमीद की किरण नज़र ना आई।

तभी बीच मे struggle ने छलांग लगाई ,
उस चल रहे मुसाफिर को ऐसी राह दिखाई ,
उस चल रहे मुसाफिर को ऐसी राह दिखाई ,
मुसाफिर ने अपने अन्दर नयी ऊर्जा की किरण पायी।

मुसाफिर ने अपने दिल की बात लोगो को बताई ,
मुसाफिर ने अपनी दिल की बात लोगो को बताई ,
किसी ने ग़म तो किसी ने खुशी दिखाई ।

जिन्दगी ने भी चैन की साँस जताई ,
जिंदगी ने भी चैन की साँस जताई ,
यही सोचने लगी......
आखिर किसी को तो मिल गयी.....मेरे मर्ज की दवाई।

येह सब देख struggle भी खुशी जताने लगी ,
दोस्तो येह सब देख struggle भी खुशी जताने लगी,
बस यही सोचने लगी......
आखिर मे भी पहली वार ,
जिन्दगी के काम आने लगी ।

दोनो ने एक साथ मिल के ,
दोनो ने एक साथ मिल के ,
Dream को आवाज़ लगाई ।
Dream ने भी दोनो को एक साथ देख ,
रुकने की हिम्मत जताई ।

फ़िर क्या था तीनो ने एक साथ मिल के strugglers की मदद करने की योजना चलाई ,
फ़िर क्या था तीनो ने एक साथ मिल के strugglers की मदद करने की योजना चलाई ,
यही से मैने dream life struggle webside बनाई ।

दोस्तो ने सभी ने इतनी खुशी  जताई ,
दोस्तो ने सभी ने इतनी खुशी  जताई ,
आखिर struggle मे क्या करना है किसी ने तो बताने की हिम्मत दिखाई ।

Written by yuvin saini..

हम ने अपनी काफी posts मे ये देखा है कि लोग हमारे articles read तो करते है, लेकिन comment बिलकुल nhi करते, अगर आप भी उन लोगो मे से एक है तो please comments जरूर करिये, आपका एक valuable comment हमें नये - नये articles लिखने की प्रेरणा देता है !