सबकुछ आसान है poem in hindi

इस दुनिया मे ना तो कुछ मुश्किल होता है और ना ही कुछ आसान होता है ।
सारा खेल मानने का है ।
जो मानता है कि उसके लिये मुश्किल है ,उसके लिये मुश्किल है और जो मानता है मेरे लिये आसान है , उसके लिये सबकुछ आसान है ।


मुश्किल है हर काम ,
नही है कुछ आसान ।
क्यों , क्योंकि सब मुश्किल है ।


करना ना कुछ पड़े ,
दिल चहता है ऐसे ही सफलता मिले ।
क्यों , क्योंकि कुछ करना मुश्किल है ।


करना ना पड़े कोई काम ,
यू ही बन जाये अपना अपना नाम ।
क्यों , क्योंकि कुछ ना मुश्किल है ।


काम को मुश्किल बनाते जाओ ,
काम को मुश्किल बनाते जाओ ,
क्या यही तुमारा काम है !!!

अरे ज़रा सोच के तो देखो ध्यान से ,
अरे ज़रा सोच के तो देखो ध्यान से ,
फ़िर पता चलेगा कि सबकुछ कितना आसान है ।

मुश्किल काम को करने वाला ,
भी तो एक इंसान है ।
मुश्किल काम को करने वाला भी तो एक इन्सान है ।
फर्क सिर्फ इतना है दोस्तो ,
उसकी सोच हम सब से महान है ।


तो फर्क हुआ सिर्फ सोच का ,
तो दोस्तो फर्क हुआ सिर्फ सोच का ।
वरना काम वही है !!!
जो एक के लिये मुश्किल ,
और दुसरे के लिये आसान है ।

और याद रखना वही महान है ,
याद रखना , वही महान है ।
जिसने येह अपना लिया !!!
मुश्किल कुछ नही दुनिया मे ,
सबकुछ आसान है ।
दोस्तो सबकुछ आसान है ।


पाना है लक्ष्य को , सुन लो दुनिया वालो ।
पाना है लक्ष्य को ,
सुन लो दुनिया वालो !!!
करो कुछ ऐसा कि
जो था मुश्किल , उसे आसान बना डालो ।


कर कुछ ऐसा ,
जिससे डरता ये जहान है ।
कर कुछ ऐसा ,
जिससे डरता ये जहान है ।
क्योंकि मुश्किल कुछ नही दोस्तो ,
सबकुछ आसान है ,
सबकुछ आसान है ।


कर कुछ ऐसा कि दुनिया बनना चाहे तेरे जैसा ,
कर कुछ ऐसा कि दुनिया बनना चाहे तेरे जैसा ।
लक्ष्य को हर हॉल मे है पाना !!!
क्योंकि तू ही वो इन्सान है ।
जिसके लिये मुश्किल कुछ नही दुनिया मे ,
सबकुछ आसान है ।
दोस्तो सबकुछ आसान है ।


Greatful thanks to sandeep sir.
This is not possible without you.

हम ने अपनी काफी posts मे ये देखा है कि लोग हमारे articles read तो करते है, लेकिन comment बिलकुल nhi करते, अगर आप भी उन लोगो मे से एक है तो please comments जरूर करिये, आपका एक valuable comment हमें नये - नये articles लिखने की प्रेरणा देता है !

Written by yuvin Saini .