Think about my Life -A motivation speech with real Life examples


हम सब को ,आप को ,मुझ को .....हम सब को बदलने की ज़रूरत है । Motivation की ज़रूरत हम सब को पड़ती है ।
बिना motivation के आप कोई काम कर ही नही सकते ।
दुनिया का छोटे से छोटा काम भी हो । वो भी बिना inspiration के आप नही कर सकते । 
किसी काम को करने के लिये हमे inspiration कहाँ से मिलती है । 
सीधी सी बात है , अगर वो कोई काम हम कर रहे है ,पूरे मन के साथ कर रहे है ,अन्दर से उस काम के बारे मे feelings अच्छी आ रही हो या बुरी ,लेकिन फ़िर भी हम उस काम को कर रहे है । अपनी पूरी समझ के साथ कर रहे है । तो वो काम कही ना कही कही हमे खुद inspire करता है । फ़िर चाहे आप को वो काम पसंद हो या ना हो इस से कोई फर्क नही पड़ता । 
लोग कहते है की मन लगा के काम करो । इसका मतलब क्या है कि मन से काम करो । फ़िर चाहे वो आपको पसंद हो या ना हो ।
जाने-अनजाने मे हम जो बात करते है । उसका effect दूसरो पर भी पड़ता है । कोई भी बात चाहे वो negative हो या possitive , वो दूसरो पर भी गहरी छाप छोड़ जाती है । फ़िर चाहे आप ने वो बात जानबुझ के की हो या कूछ सोच समझ के की हो । 
बड़ी ही simple सी real example है । 
मेरी एक friend थी । मै उस का नाम नही लेना चाहूंगा । उस की एक आदत थी । वो जब भी मुझ से बात करती phone पर तो वो हर वार आखिर मे एक बात ज़रूर कहती थी कि कल से मे बदल जाऊँगी । पता नही वो मेरे साथ ही ऐसा क्यों करती थी । और किसी के साथ वो ऐसे बात नही करती थी । हो सकता है कि वो अपनी present   को लेकर खुश ना हो , उस को अपने अन्दर कोई कमी नज़र आती हो । मै नही जनता कि वो ऐसा क्यों कहती थी ,ना ही मे जानना चहता था । 
लेकिन यहाँ पर कुछ गजब सा हुआ । वो बदली या नही बदली इसका मुझे पता नही । लेकिन उस कि बाते सुन करके ,लगातार सुन करके मेरी life मे बहुत बड़ा change आया । मेरी समझ और गहरी होती गयी । उस की बाते सुन करके मे पूरी तरह से बदल गया । उसका पता नही की वो बदली या नही बदली ।😄
कुछ बदलना ना बदलना किसी और के हाथ मे नही होता । ये आपके हाथ मे होता है । कोई आपकी life बदलने वाला नही है ।
कुछ दिनो पहले मुझे facebook पर दो तीन लोगो के message आये । वो मुझे कहने लगे की यार मेरी life मे ऐसी ऐसी problems है ,मेरी मदद करो । मैने उनको समझया की कोई आपकी लाइफ बदलने वाला नही है । आपको खुद ही कुछ करना होगा । आप जिस से मदद माँग रहे हो ,की मेरी problems solve करो ,हो सकता है की वो खुद ही अपनी problems मे इतना उलझा हो , की वो अभी अपनी problems solve ना कर पा रहा हो । 
मैने उन्हे बताया कि मुझे बड़ी बड़ी बाते करने नही आती । आपको मे समझाने लगूं कि सख्त मेहनत करो ,हार ना मनो । जैसे पूरी दुनिया कहती है  और खुद कभी इन बातो पर अमल किया ना हो तो क्या उस से आपकी problem   solve हो जायेंगी ?
मैने उनको सिर्फ एक बात समझाई और आप लोगो को भी बता रहा हूँ । हर इन्सान कि लाइफ मे अलग अलग तरह कि प्रॉब्लम्स होती है ,ये ज़रूरी नही कि हर एक प्राब्लम एक जैसी हो । हो सकता है कि मेरी  प्रॉब्लम्स कुछ और हो जिस वजह से मेरा experience आपके प्रॉब्लम्स से बिल्कुल अलग है ।
अगर मेरी problems financial setback  से रिलेटेड है , लेकिन आपकी relationship से रिलेटेड हो , तो बताओ कि मेरा experience आपके कैसे काम आयेगा ?
इसलिये हर एक कि problems उस के लाइफस्टाइल के हिसाब से अलग अलग होती है । आपको अपनी problems को खुद ही solve करना सीखना चाहिये । किसी और के सर पे अपनी प्राब्लम का बोज नी डालना चाहिये ।
मेरी बात को ध्यान से समझने को कोशिश कीजिये ।
बुरा वक्त हर एक कि life मे आता है । struggle भी हर एक कि लाइफ मे आता है । ये ज़रूरी नही कि जिसके पास पैसा ना हो उसी इन्सान को struggle का समना करना पड़ेगा । स्ट्रगल का मतलब हमेशा financial  setback का खराब होना नही होता । ये जिंदगी का बहुत ही ज़रूरी पहलू है । एक पैसे वाले इन्सान कि लाइफ मे भी स्ट्रगल बहुत है । लेकिन उसके स्ट्रगल के लेवेल कुछ और है । 
हम सब कि life मे, आपकी....मेरी, हम सब की ,, लाइफ मे एक ऐसा time जरूर आता है । जब हालात आपके विरोध मे होने शुरू हो जाते है । कभी कभी तो ऐसी situation भी आ जाती है की आपके parents , आपके भाई -बहन तक आपका साथ छोड़ जाते है , आपके खिलाफ हो जाते है । सुबह से लेकर शाम तक बस यही बाते सुनने को मिलती है ,की तू निकम्मा है । तेरे बस कुछ नही । तू लाइफ मे कुछ नही कर पायेगा /पायेगी ।
अब  सिचुयेशन ऐसी बन जाती है कि इससे  कैसे बाहर निकला जाये ।
इसके दो तरीके है 

1:अपने आस -पास के माहौल को बदलो-  आप.मे से कितने लोग  है,जिन्हे   लगता है कि वो अपने आस -पास के माहौल को बदल सकते है ?  वो जो करे उसे खुश हो कर करे ।

2. या फ़िर अपने अन्दर के माहौल को बदले - इस को follow करना है ।  हमारे अन्दर मे जो चल रहा है , पहले तो उसे अच्छे से समझो । इस लिये तीन question अपने आप से पूछो ,जब भी आप अकेले हो ।
  • क्यों लोग मेरा  compare किसी और से कर रहे है । 
  • आखिर दुसरे लोगो मे क्या है जो मुझ मे नही है ।
  • अब मे क्या करूँ ,जिस से मेरी लाइफ  change हो जाये ।
जब ये तीनो question clear हो जायेगे । तब आपको समझ मे आ जयेगा कि मुझे करना  क्या है और वो मै कैसे करूँगा । इसलिये आराम से बेठ करके सोचो ।हर एक के अन्दर कोई ना कोई strength है । कुछ ना कुछ अलग है । उस strength को हम देखते नही है , देख उन चीजो को रहे है जो हमे पीछे धकेल रही है ।
मेरी एक friend कि आवाज़ बहुत बढ़िया थी ।उस ने ना कभी singing कि practice कि थी , ना कभी किसी सिंगिंग class  मे admision लिया था । पर जब भी वो गाती थी तो उसके गाने सुन के सब अलग ही दुनिया मे खो जाते थे । उस कि आवाज़ मे जादू था ,एक अलग सा नशा था । वह एक दिन मेरे पास आयी और मुझ से एक बात बोली । उसकी बात को सुन कर मै भी हैरान रह गया । 
वह कहने लगी कि यार ना मै पढ़ाई मे आगे हूँ ,ना मुझे लाइफ कि समझ है ,ना मुझे किसी से बात करने आती है । घर वाले भी मुझ से परेशान है । जब मे तुम्हे देखती हूँ तो बहुत ही jealously feel   करती हूँ । तुम हर काम मे perfect हो । मै उस कि wording देख कर हैरान था । 
मैने  उस से सिर्फ एक बात कही ,पता नही उसे समझ आयी कर नही । मैने कहाँ "अगर मेरे अन्दर इन सब मे से जो तुमने बताया ,इन सब मे से कोई गुण भी ना हो होता । लेकिन तुम जैसी आवाज़ होती ,सिर्फ आवाज़ । तो मै जरूर कुछ बड़ा कर जाता ।फ़िर चाहे मै निकम्मा ,बेवकूफ और पढ़ाई मे zero होता तो भी मुझे इस बात का कोई दुख नही होता । क्योंकि कुछ बड़ा करने के लिये लोगो कि नजरो मे ऊपर उठने के लिये ,आपके अन्दर हजारो talents का होना ज़रूरी नही । 
सिर्फ और सिर्फ एक talent ऐसा होना चाहिये  , जो उन हजारो talent को पीछे छोड़ दे । आपके अन्दर बहुत सारी अछी quality हो तो ठीक है ।पर अगर ना भी हो तो क्या फर्क पड़ता है ।आखिर कुछ तो ऐसा है जो हमे दूसरो से अलग बनाता है । 
मैने उसे last मे यही बात समझाई कि तुम सोच रही हो कि मेरे अन्दर ये अलग -अलग talent होते तो मै कुछ कर पाती ।
लेकिन इस moment मे भगवान मुझ से सब कुछ छीन ले । सभी टेलेंट को वापिस ले ले । बस बदले मे सिर्फ और सिर्फ तूमारे  जैसी आवाज़ दे दे तो मे खेल खेल मे कुछ कर जाऊँगा ।
किसी से कोई भी expectation ना रखे । ये ना सोचे कि वो मेरे साथ है तो मुझे किसी बात का डर नही । मेरी मदद करने वो आ जायेगा । कई वार वो इन्सान जिस से हम मदद कि उमीदें करते है ,वो खुद अपनी life मे उलझा होता है ।
आप कि मदद कोई नही करने वाला । सिर्फ और सिर्फ एक ही इन्सान आप कि मदद कर सकता है और वो है आप खुद । 
Life मे खुश रहना है तो दूसरो से जितनी कम उमीदें रखोगे उतना ही आप के लिये अच्छा है ।
Life मे तीन रूल follow कीजिये ,कभी धोखा नही खाओगे ।

1.Never Beg Anyone.

2. Never Trust on anyone.

3.Never depends on anyone.  

इससे होगा क्या कि जब आप किसी पे भरोसा ही नही करोगे तो आप का भरोसा टूटने का डर नही होगा । किसी के सहारे नही बेठोगे ।
जो काम आप कर रहे है उसे अच्छे से करे । लाइफ मे खुश रहने के और काम को अच्छे से करने  के  दो तरीके है ।
1.या तो जो करना चाहते है , उसे करना शुरू कर दे ।2. या फ़िर जो कर रहे है उसे अच्छे से करे ।
हमे दोनो points को करना है ।जो हम करना चाहते है ,उसके लिये भी आगे बढ़ना है और जो हम कर रहे है उसे भी अच्छे से करना है ।
feelings पर ध्यान नही देना है । मेरी बात को ध्यान से समझने कि कोशिश कीजिये कि आखिर मै क्या कहने कि कोशिश कर रहा हूँ ।
ये जो feelings आ रही है आप के काम के प्रति । वो सारी temporary है । मान लीजिये कि  आप एक student है ,लेकिन पढ़ाई मे आपका  interest बिल्कुल भी नही है । आप को dance  करने मे मजा आता है ,या फ़िर सिंगिंग आप कि hobby है । आप पढ़ाई नही करते बस सारा दिन dance ही करते रहते हो । 
माँ पढ़ाई करने के लिये कह रही है ,आप का excuse क्या है ? मेरा दिल नही करता पढ़ने को । मै अपना ध्यान नही लगा पाता /पाती । 
ये जो दिल नही लग रहा ,या ध्यान कही और जा रहा है । ये खराब feeling आखिर आ कहाँ से रही है । 
जो भी काम आप कर रहे हो उस काम को पकडे रखो । उस को करो , feeling अच्छी आ रही है तो करो ।
फीलिंग बुरी आ रही तो भी करो ।
आप खुद जानते हो कि study नही कि तो exam मे आपका क्या हाल होगा , इस लिये करो । मै ये नही कहता कि singing छोड़ दो । वो भी करो ।
साथ - साथ करो । दोनो चीजो को साथ लेकर चलो , क्योंकि दोनो आप के लिये ज़रूरी है । 
एक और example है ।
हम सभी जानते है कि meditation कि कितनी value है ,लेकिन हम 10 मिनट भी नही बेठ पाते । आप का ध्यान कही और जाने लगता है ।
आपके अन्दर ख़राब feeling आने लगती है ,मन करता है छोड़ ना यार कुछ और interesting करते है । लेकिन आप खुद भी ये जानते है कि meditation से मुझे फायदा होगा । मै चिंता और बीमारियों से उतना ही दुर रहूंगा । पर आपका मन नही लगता । 
यहाँ पर problem ये है कि हम जानते है कि योग हमारे लिये सही है , पर फ़िर भी हम कर नही पाते । सिर्फ और सिर्फ अपनी खराब feeling कि वजह से । 
अगर ख़राब feeling भी आये तो भी अच्छे से करो । क्योंकि वो जो feeling आ रही है वो temporary है । एक ना एक दिन वो ख़राब feeling भी अच्छी हो जायेंगी । 
आप ने देखा होगा कि कई लोग जो meditation को कई घण्टों तक कर लेते है क्योंकि उन के अन्दर कि feeling अच्छी हो जाती है , इसलिये काम को छोडो ना ।
मेरे words को ध्यान से समझिये । आगे मे किस तरफ़ ईशारा कर रहा हूँ उसे अच्छे से समझियेगा ।क्योंकि इसी बात मे सारा निचोड़ है और अगर आप ने ऐसा कर लिया तो समझ लीजिये कि आप कि life पूरी तरह से change हो जायेंगी ।
हर रोज़ जब भी शीशे मे अपनी शकल देखो तो बस एक बात दोहराओ । अकेले बेठे हो तो भी । एकदम शांत मन से ,दुनिया को बताने कि ज़रूरत नही है । सिर्फ अपने मन मे कहना है ।
i am the greatest person ever born on this planet . 
अपने mind मे ये बात अच्छे से बिठा लो कि i am the greatest. बस इतना कहना है ।
 लोग क्या कहते है इससे मुझे कोई फर्क नही पड़ता । 
दुनिया क्या कहती है उसे कहने दो । आप खुद अपनी नज़र मे great बने रहो । 
ज़रा ध्यान से सोचिये की आपको पता है कि आप great हो तो आप कभी छोटी बात कर सकते हो ?
जिस इन्सान को पता है कि मै great हूँ तो उस उस इन्सान के action कैसे होंगे ,उसके चलने का style कैसा होगा । उसके बात करने का style,लोगो को कुछ अलग ही नज़र आयेगा ।
Greatest कि defination को भी ठीक रखना mind मे ,कि मै greatest क्यों हूँ ,क्योंकि मे अपने काम को enjoy करके करती हूँ /करता हूँ । मै अपने काम को अच्छे से करता हूँ ।
मान लो कि आप एक टीचर हो तो आप अपने teaching के काम को इतने अच्छे तरीके से करते हो कि अन्दर से आपको पता है कि i am the greatest teacher , एक इन्सान जिसका नाम बहुत बड़ा है और दूसरा जिसका काम बहुत अच्छा है तो दोनो मै से great कौन है ?
सिर्फ नाम बड़ा होना काफी नही है । एक वार आप अपनी नज़र मे great बन गये तो बहुत मजा आयेगा life को जीने का ।
एक magnet कि तरह बन जाओगे कि सब आपसे चिपक जायेगे । आप कहोगे कि मुझे छोड़ दो वो कहेगे कि हम नही छोडेंगे , इसलिये आप को समझ कर कर के लोगो को अपने साथ जोड़ना है । 
आपकी खुशी😊 जो है ,उसे  कभी मरने मत देना । हार गये तो भी celebrate करो और अगर जीत गये तो भी । हार का मतलब क्या है कि अपने कोशिश करी ,पर नही कर पाये । कोई बात नही फ़िर से दोबारा try करो ,कभी ना कभी तो वो काम सही हो ही जायेगा ।

When you feel lonely ,then spend your time to a great person  :- who is you..... And enjoy his word and life experiences.:-  Bhanu saini