Magic Of Thinking: positive thoughts आपके लिये ज्यादा खतरनाक हो सकते है -जानिये कैसे ।


थिंकिंग इन्सान का सबसे powerful weapon है । इससे आप कुछ भी कर सकते हो.....कुछ भी । याद रखिये मै एक वार फ़िर से बता रहा हूँ ये बहुत ही powerful weapon है ।

पूरी दुनिया मे सबसे powerful और सबसे dangerous ; इससे आप कुछ भी कर सकते   हो ।
आप के पास कुछ भी नही है ,ना job है ; ना education मे कोई qualification है ।;ना आपके घर कि background अच्छी है ; ना आप physical तौर पर ताकतवर हो ,आप के हालात दिन ब दिन खराब होते जा रहे है ।
लेकिन उस moment मे अगर आप के पास एक common sense है ना , तो आप जीत   जाओगे ।
दुनिया कि नज़र मे बेशक आप गिरे हुए हो ,लेकिन मै कहता हूँ कि आप जीत जाओगे । आप के अन्दर सिर्फ common sense होनी चाहिये , life कि समझ होनी चाहिये । 
एक वार अगर आपकी अपनी thinkng पर पकड़ हो गयी तो आप के पास कुछ भी ना होते हुए भी ,बहुत कुछ है ।
आप तब तक गरीब नही हो सकते , जब तक आप कि सोच गरीबो वाली नही है ।
आप तब तक fail नही हो सकते ,जब तक आप कि thinking failure वाली नही है ।
जब तक आप कि थिंकिंग आप के साथ है , आप अपने mind मे great हो , लोग आप के पीछे घूमेंगे , ना कि आप लोगो के पीछे । 
फ़िर भले ही आप के पास कुछ भी ना हो । लोग आप के साथ चिपक कर बेठ जायेगे ।आप जितना कहोगे कि छोड़ दो , पर वो नही छोडेंगे ।

Thinking का मतलब ये नही कि आप हर काम को perfect तरीके से करो । ये ज़रूरी नही कि जैसा आप सोचोगे ,वैसा ही आप बोलोगे ।
भले ही आप को बात करने का तरीका ना आता हो , आप का communication skill बिल्कुल भी अच्छा ना हो ,
आप के चलने का style अच्छा ना हो ।
आप बहुत lazy हो , आप किसी काम मे perfect ना हो ।
लेकिन अगर आप अपनी thinking मे perfect हो , आप अपनी सोच मे अच्छे हो तो कोई फर्क नही पड़ता कि आप अपनी personalility मे कैसे हो ।
     याद रखिये जिन्दगी कि Race ज़रूरी नही एक तेज और हुशियार इन्सान ही जीतता हो ....बल्कि जीतता वो है जिसे यकीन है कि आज नही तो कल वो जरूर जीतेगा । 

                   Types of thinking 


इसको आप दो पार्ट्स मे Divide कर सकते हो ।

1. positive thinking 

2. Negative thinking 

आप के positive सोचने का तरीका ही positive thinking है ।
आप के negative सोचने का तरीका ही negative thinking है ।
याद रखिये   :- positive  thoughts and Negative thoughts आपकी  positive thinking and negative thinking से अलग है।
इसको दो छोटी सी situation से समझते है ।
1.) मान लो कोई आप कि बहुत ज्यादा अछाई कर रहा है ,और आप मान लेते हो कि आप वाकयी मे अच्छे हो और अगले दिन वही इन्सान आप कि बुराई करने लगता है तो आप भी मान लेते हो कि आप मे कोई बुराई है ।
2-.) दूसरी तरफ़ वही इन्सान आपको पहले दिन आकर आपकी बुराई करने लगा ,लेकिन अगले दिन आपकी तरीफ करने लगा ,पर आपको बिल्कुल फर्क नही पड़ा । आप वैसे के वैसे ही हो जैसे अपने बारे मे अपने mind मे सोचते हो ।

अब ध्यान से देखिये हुआ क्या एक इन्सान आपको अच्छा -बुरा कह रहा है , इसका मतलब वो इन्सान अपने positive या negative thoughts आपके ऊपर फेंक रहा है , ये ज़रूरी नही कि positive या negative thoughts आपके ऊपर किसी व्यक्ति द्बारा ही फेंके जाये , कोई किताब ,कोई song या कोई movie या फ़िर कोई सिचुयेशन भी हो सकती है ।
पर ये आप के ऊपर depend करता है कि आप उस को किस तरह से handle करते  है ।
आप अपनी thinking का use किस तरह से करते हो ।
याद रखिये :- Negative thoughts को ignore करने का मतलब ये नही कि आप अपनी कमियों को नजरअंदाज कर दे । अगर आप कि कोई कमी वार -वार आपके रास्ते कि रुकावट बन रही है ,तो उसे सुधारने का प्रयास हर रोज़ करे ,ज्यादा नही......पर थोड़ा -थोड़ा प्रयास जरूर करे ।

     Positive thinking ज्यादा खतरनाक है 


आपकी थिंकिंग इस दुनिया का सबसे ताकतवर औजार है , पर ये खतरनाक भी उतना ही है ।
लोग हमेशा कहते है. be positive..be positive...क्या इसमे कोई सच्चाई है । कभी अकेले बेठकर ध्यान से सोचना ।
कोई भी thought हो , जिस पर भी आप अपनी thinking टिकाये रखते हो ,वो सिर्फ आप को गिराता चला जायेगा ।
एक इन्सान अगर हर वार यह सोच कर ही चलेगा कि मै तो नही हारूगा ,मेरे साथ कुछ भी बुरा नही होगा । तो naturally है कि उसके साथ बुरा  होगा ।
एक situation ये है कि आप अपने mind मे ये बात को पकड़े हुए हो कि मेरे साथ positive हो 
और दूसरा ये कि आप के साथ दो तीन चीजे लगातार positively हो जाती है ,या हो रही है ।
ये दोनो ही खतरनाक है । 
आप के साथ positive हो रहा है ये गलत नही है पर आप negatively से अपना ध्यान हटा कर बेठे हो ये बहुत बुरा है । आपकी लाइफ मे positive होता रहे या फ़िर आप positive पर अटके रहे तो जब failure का attack होगा , तब आपको काफी मुश्किल होगी ।

1) अगर आपके लिये positive अच्छा है तो negative उस से 2 गुणा ज्यादा अच्छा है ।


2) आपका हर failure आप से कुछ ना कुछ अच्छा करवाता है , अगर आपकी thinking clear है तो ।

अगर आप ये सोच कर बेठे हो कि आप के साथ मे positive चीजे ही होंगी तो ये आपकी गलतफ़हमी है ।
अगर positive है तो negative भी है , और positive से 2 गुणा ज्यादा है ।
आप के साथ कुछ ना कुछ ऐसा हो जायेगा , जिस की आपने कभी कल्पना भी नही की होगी ।
इसलिये आप positive negative  situations ,thought से छुटकारा नही पा सकते । ये तो आपके साथ चिपके रहेंगे ,लेकिन अपनी thinking से आप चाहे वो positive हो या negative इस को control कर सकते हो ।

              हमेशा life को ऐसे देखे 

1.अपने अन्दर success or failure दोनो को निकाल दे :- अपने mind मे ये ना सोचे  कि मै इस काम मे successful हो जाऊँगा , बल्कि ऐसा सोचे कि मै successful हो गया तो ठीक ,अगर नही हुआ तो भी ठीक । मै अपनी life मे कुछ और ढंग का कर लूँगा ।

   2.success का सिर्फ chance होता है ,लेकिन failure की गारंटी होती है  : -  कोई भी काम को अगर इस नजरिये से देखोगे की success का तो सिर्फ चान्स होता है लेकिन failure की गारंटी है तो आपके अन्दर से failure का डर निकल जायेगा ।

3. अपनी reality से पीछा मत छूटाये :- जो चीजे आपको negative लगती है ,वो reality मे इतनी negative नही होती ।

अगर कोई आपको सच्चाई दिखाने की कोशिश कर रहा है तो इसका मतलब यह नही कि वो आपको negativity  से भर रहा है ।
सिर्फ सच्चाई को accept करे ,पर negativity को अपने दिमाग मे ना आने दे ।

4. हमेशा positive रहोगे तो दोखा  खाओगे :-  Be positive........Be positive , हमेशा positive सोचो । ये बाते अब मुझे अजीब सी लगती है । 

कौन successful नही होना चाहता । अगर positive रहने से ही सारे काम बन जाते तो negative बाते कोई करता ही नही ।

5. Negative से energy Generate होती है :- ये बात मैने संदीप maheswari के एक seminar मे सुनी थी , इसे ज़रा ध्यान से सुनिये और समझने कि कोशिश कीजिये ।

अगर आपको कोई कहता है कि आप नही कर सकते तो उसके कहने से आप के अन्दर energy create होने लगती है कि अब तो मुझे करना है । फ़िर life आपके लिये battery के जैसी हो जाती है  जहाँ पर पॉज़िटिव भी है और negative भी है ।। आपको positive कि वजह से भी energy मिलेगी और negative कि वजह से भी energy मिलेगी । अब आपकी life मे किसी के लिये कोई गिला-शिकवे  नही होंगे ।

हमेशा अपने अन्दर इस बात को टिकाये रखना कि कोई आप के साथ मे चाहे कितना भी बुरा क्यों ना करे ,लेकिन वो आपकी आजादी को नही छीन सकता ।
आपको तबतक नही गिरा सकता ,जब तक आप खुद नही  गिर जाते ।
अगर आप को लगता है कि कोई इन्सान आपकी thinking का इस्तेमाल कर रहा है आपको mentally परेशान कर रहा है । आपकी सोच से लगातार खेलने कि कोशिश कर रहा है ,तो उस इन्सान को ही छोड़ दो , इस से ज्यादा आप कर भी क्या सकते हो ।  अकेले रहने मे क्या बुराई है । 
कभी अकेले रह कर तो देखो negativity आती भी है तो आने दो ,उससे पीछा मत्त छूटाओ । 
Positive ,negative ये आपके अन्दर temporary होते है , ये कुछ देर के लिये आती है ,फ़िर बाद मे अपने आप चली जाती है ।
इसलिये डरो मत ,अगर कोई चीज़ को लेकर ,कोई relation को लेकर आपके अन्दर negativity आती भी है तो बस इतना सोचो कि ज्यादा से ज्यादा क्या होगा हम दोनो अलग हो जायेगे , कभी नही मिलेंगे ।
अपने past के failures को भूल जाना ,लोगो के साथ मे अपनी attachments कम कर देना और कभी भी डर को अपने अन्दर हावी मत होने देना । मेरी बस यही बात को पकड़ कर रखना ,और आपको कुछ भी करने कि ज़रूरत नही है ,कुछ  भी नही । बस आप इतना सा करोगे और आपकी thinking पर पूरी तरह से आपका control आ जायेगा । control करना नही पड़ेगा , control आ जायेगा ।
और ये बात मे practically बोल रहा हूँ कही से देख सुन के नही कह रहा । 
आपको negative ,positive सोचना नही है ,आपको negative ,positive दोनो से energy लेनी है और ये काम आप सिर्फ अपनी thinking कि मदद से ही कर सकते हो ।

आपकी thinking दुनिया का सबसे powerful weapon है जब तक ये आपके control मे होती है ,लेकिन यही thinking आपके लिये  सबसे dangerous तब बन जाती है जब इसका control दूसरो के हाथ मे आ जाता है -  ......Bhanu Saini.

दोस्तो अब motivated रहने के लिये और  dreamlife struggle के official Whatsapp group का हिस्सा बनने के लिये आज ही अपना नाम और whatsapp number हमे हमारे whatsapp number पर send करे ।
हमारा WhatsApp Number है -


                         +918725842689