Life Goals vs happiness in hindi

दोस्तो मे yuvin saini एक वार फ़िर से आप सभी का स्वागत करता हूँ । पिछली पोस्ट मे आपने पड़ा था कि goal क्या है और कैसे पाया जाये । अगर आप ने वो नही पड़ी तो इस post को पढ़ने से पेहले lakshya जरूर पड़े । फ़िर ही येह पोस्ट read करे ।

Qus--दोस्तो मे आपसे एक सवाल पूछना चाहूंगा कि आपको क्या पसंद हे अपना लक्ष्य या खुशियाँ ।????

ans -जाहिर सी बात है दोनो ही ।

Qus--पर फ़िर से एक सवाल पूछना चाहूंगा कि क्या  आप का लक्ष्य आपको वो खुशियाँ दे पायेगा ।???

ans- आपका जवाब होगा अरे हा ,देगा भाई ।

Qus---मे आपसे तीसरा सवाल पूछूंगा ' क्या आप अब खुश हो जब आपका target आपके पास नही है ?

ans- इसमे कोई दो राय नही है ,बहुत से लोग खुश है । life को enjoy कर रहे है ।

पर उनका क्या जो अभी भी दुखी है । वो जो दुखी है वो दुखी रहना तो नही चाहते ,  पर क्या करे हालत उन्हे दुखी बना रहा है ।

मैने कई ऐसे लोगो को देखा है  जिनके पास सबकुछ है । पर फ़िर भी वो दुखी है ,दूसरी तरफ़ ऐसे लोग भी है , जिनके पास ज्यादा कुछ नही है पर फ़िर भी वो खुश है । तो life का goal क्या होना चाहिये , खुशी होनी चाहिये या material success होना चाहिये ।

 पेहले हमे समजना होगा कि खुशी है क्या ।
हम कब खुश होते है ???  

हम जब भी खुश होते है क्यों होते है ??
इसके पीछे का कारण क्या है ;?

जब आप इस चीज़ को अछै से समझो गए तब आपको इसके जवाब मिलने शुरू हो जायेगे ।

खुशी एक तरह का एहसास है जो हमारे अंदर छुपा होता है । इसे हमे खुद ही बाहर लाना होगा ।

अब करे तो क्या करे जो कोई बेचारा life के attacks को झेल रहा है वो क्या करे । वो उन बुरे हालतों मे कैसे खुश रहे । मै येह तो नही कह सकता कि उन हालतों मे आप खुश रेह सकते हो पर कही ना कही आपने आप को उस situation मे relax  करवा सकते हो । आप नीचे दिये points का इस्तेमाल कीजिये हो सकता है कि इन मै से कोई आपके काम आ जाये ।


चिंता ना करे ---- येह एक बहुत ही एहम topic है ।

इस पर जल्द ही मै एक post जरूर लिखूंगा । बस तब तक के लिये जितना हो सके इस से बच कर रहिये । खुश रहना है तो चिंता छोड़नी होगी ।


music सुने ---- अपने पसंदीदा गाने कही अकेले मे बैठ कर सुने । उस से मन को आराम मिलता है । वो भी आपको खुशी देगा ।


past को भूल जाओ ---- येह भी बहुत ही एहम
 topic है । इस पर भी एक पूरी post जल्द ही update होगी ।

आपका past आपकी जिन्दगी को  बहुत प्रभावित करता है । आप अपनी पुरानी यादें सोच कर खुश होते हो कि yarr वो स्कूल के दिन भी क्या दिन थे कितने अछे से दिन गुजरता था । कितना मजा आता था । पर आप वापिस वहाँ जा नही सकते । फ़िर अपनी past कि अछी यादों को present से compare कर के दुखी होते हो ।

हर वो यादें जो आप को सुख देती है वो असल मे आपको दुखी करती है । इसलिए past को भूल जाना ही बेहतर है ।


खुशी का एहसास  ---- खुश होने के लिये ज़रूरी

नही कि आप सक्सेस्फुल हो । आप के पास material things हो ।

नही । आप को इन सब चीजो से खुशी नही मिल सकती । आप इन चीजो से मन को satisfay कर सकते हो पर खुशी हासिल नही कर सकते । ये garanti हे मेरी । खुशी तो एक अंदर से पेदा होने वाला एहसास है । वो छोटे छोटे काम करे जिन से आप को खुशी मिलती हो ।


दूसरो को खुश रखे ---- हर वो व्यक्ति जो अपनी life मे कही ना कही दुखी है । अन्दर से परेशान है ,उसे खुश रखे ।


दूसरो की मदद करे ----  आप ने कई ऐसे लोगो को

देखा होगा जिनेह  मदद की ज़रूरत होती है । ऐसा अगर कोई भी इंसान मिले तो अपने से जितना हो सके उस की मदद ज़रूर करना । तब जो एहसास पैदा होता है अन्दर से , वो शव्दो मे बयान नही किया जा सकता ।


future की चिंता छोड़े ----- अपने goals  को लेकर इतने भी पागल मत बनो की आज जो चल रहाहै उसे enjoy करना ही भूल जाए  ।
हमेशा याद रखे :-
  आप के future का निर्माण , आप के आज से होता है ।


कोई movie देखे ------ ये सब से best point है ।

जब भी आप दुखी होते हो ,अपने आप को छोटा मेहसूस करते हो ,या फ़िर आपको लगता है की आप दुनिया की इस रेस मे कही ना कही पीछे रेह गये तो बस कोई new movie देखे ।


संगत सुधारे ---- जो लोग आप को दुख देते है ,

परेशान करते है ,आप के रास्ते मे रुकावट बनते है । उनसे दूरी बनाये रखे । उनसे दुर रेहना ही आप के लिये अछा है ।


consultion---  दोस्तो ये लिस्ट कभी ख़त्म नही

होगी पर असली खुशी उसी काम को करने मे है जिसे आप पसंद करते हो । मैने आपको कई points बताये पर एन मे से मै सिर्फ म्यूज़िक और movie देखना ही पसंद करता हूँ ।उसी से मुझे खुशी मिलती है ।

अपने आप मे fresh मेहसूस करता हूँ ।
खेर हमारा question था की life goals vs happiness.

इसका सीधा सा एक ही जवाब है कि लक्ष्य बहुत ज़रूरी है ,पर इससे भी ज्यादा ज़रूरी है खुशी । अरे भाई जब लक्ष्य को पाना ही है तो दुखी होकर क्यों पाये ।!!!!

उसे खुश होकर पाये । आसान है yarr , कोशिश तो करो । अपने आप को इतना strong बनाओ कि दोबारा कभी internet पर ये search करने कि ज़रूरत ही ना   पड़े ।

कि how to be happy in hindi.
Thank you dosto पूरा पढ़ने के लिये और अब आप new post के लिये subscribe भी कर सकते हो ।

अलविदा दोस्तो जल्द ही मुलाकत होगी एक और नयी स्टोरी के साथ । तब तक के लिये bye -bye.