NIFTY in Hindi निफ्टी क्या है ?



NIFTY in Hindi निफ्टी क्या  है

आप सभी ने अखबारों या टेलीविजन पर निफ्टी शब्द काफी बार सुना होगा,निफ्टी को सुन कर हमारे मन मे भी share market के बारे मे ज़रूर आता होगा ।
Nifty का पूरा नाम  National stock of fifty है ।

निफ्टी नेशनल स्टॉक एक्सचेंज यानी NSE का सूचकांक है. यह National और Fifty दोनो शब्दो को मिलाकर बना हुआ है ।


 निफ्टी NSE  नेशनल  स्टॉक एक्सचेंज मे Listed 50 प्रमुख शेयरों का सूचकांक है. निफ्टी दो शब्दों को मिला कर बना है !
यह INDIA मे पचास कंपनियों के शेयरों पर नज़र रखता है और उनमे आ ररहे उतार - चढ़ाव के बारे मे लोगो को बताता है ।शेयर बाजार क्या है ?

ये Link भी ज़रूर पड़े -

1. Sensex क्या है ?

निफ्टी की मदद से आपको बाजार की चाल का हाल मालूम हो जाता है. यदि निफ्टी में तेजी है तो आप मान सकते हैं कि बाजार में भी तेजी है. यदि निफ्टी में गिरावट है तो आप मान सकते हैं कि बाजार में भी गिरावट है. 

 हालाँकि निफ्टी मे सिर्फ पचास कंपनी के  शेयरों को ही देखा जा सकता है जो कि इस मे Listed है ।
BSE तथा NSE भारत के प्रमुख शेयर बाजार हैं जहां शेयरों की ट्रेडिंग होती है. सेंसेक्स तथा निफ्टी इनके प्रमुख सूचकांक हैं.
NIFTY मे 22 अलग -अलग Sector की पचास कंपनियाँ Indexed है ।

सेंसेक्स की ही तरह निफ्टी नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर free-float market-weighted stock market index है. किसी भी कंपनी के बाजार पूंजीकरण Market Capitalization का वह हिस्सा जो बिकने के लिए बाजार में उपलब्ध हो सकता है  वह फ्री फ्लोट बाजार पूँजी होगी और उसी के आधार पर निफ्टी की भी गणना की जाती है. पचास शेयरों के इसी इंडेक्स को निफ्टी कहते हैं.


Nifty के काम :


Nifty की मदद से हमे  पचास कंपनियाँ के काम का पता चलता है ,अगर कंपनियाँ अच्छा कार्य करती है तो उनके शेयरों की कीमतों मे बदलाव आता है । 
ठीक इसी तरह अगर कंपनी के काम मे गिरावट है तो इसका असर भी उसके शेयरों पर पड़ता है और शेयरों की कीमतों मे भी गिरावट आती है ।


Nifty कैसे बनती है , How to create Nifty.

NSE मे listed कंपनियों मे से टॉप 50 कंपनियों के शेयर को Nifty मे रखा जाता है और उन्ही से बाजार के उतार - चढ़ाव का पता लगाया जा सकता है ।
ये जो 50 कंपनियाँ चुनी जाती है ये अपने - अपने Sector की सबसे बड़ी कंपनियाँ होती है ।

Nifty और sensex मे क्या अंतर है ।

Nifty और sensex दोनो ही stock index यानी संवेदक सूचकांक है । ये दोनो एक ही जैसे है और एक ही तरह का काम करते है लेकिन इन दोनो मे बहूत ही छोटा सा difference है जो इन दोनो को एक दूसरे से अलग बनाता है ।

1. Nifty NSE का हिस्सा है जबकि Sensex BSE का ।

2. Nifty मे पचास कंपनियाँ registered होती है जबकि sensex मे तीस !

इसीलिये 50 कंपनियाँ ज्यादा अच्छे तरीके से Market capitalization कर पायेगी ।


Nifty के फायदे :

निफ्टी के कुछ प्रमुख फायदे जो कि कुछ इस तरह से है ।
1. National stock exchange की 
performence का आसानी से पता लगा पाना ।

2. Nifty के गिरने या ऊपर जाने की वजह से बाजार मे मंदी और तेजी का पता आसानी से लगा पाना ।

3.Nifty की मदद से देश की आर्थिक स्तिथि का पता आसानी से लगाया जा सकता है ।

 उम्मीद है कि आपको समझ आ गया होगा कि निफ्टी क्या है और इस का क्या महत्व है ।
हम ने अपनी काफी posts मे ये देखा है कि लोग हमारे articles read तो करते है, लेकिन comment बिलकुल nhi करते, अगर आप भी उन लोगो मे से एक है तो please comments जरूर करिये, आपका एक valuable comment हमें नये - नये articles लिखने की प्रेरणा देता है !


ये Link भी ज़रूर पड़े ।

1.शेयर बाजार क्या है ?