आओ मेरे साथ करो exam की तैयारी ।

  दोस्तो आजकल हर तरफ़ exams का माहौल बना हुआ है और सभी लोग अपनी -अपनी preparation मे लगे हुए है । हम सब इतनी मेहनत से तैयारी करते है लेकिन फ़िर भी हम fail क्यों हो जाते है ?
Exam preparation by dreamlifestruggle
ये ज़रूरी नही कि हर एक student के लिये ये बात मायने करती हो ,लेकिन maximum number of times काफी students के साथ ऐसा होता है । आखिर क्या reason हो सकता है compartment आने का ।
बहुत से लोग compartment लेकर बैठ जाते है और उससे जल्दी छुटकारा नही पा पाते । इसके क्या reason हो सकते है क्या हमारी पढ़ाई मे कमी है ? मेरे ख़याल से ये खुद अपने आप मे एक question है क्योंकि हमारे बीच ही कुछ ऐसे गिने -चुने students होते है जो book को हाथ ना लगाते हुए भी अच्छे नंबर ले जाते है तो आखिर उनके अंदर ऐसी कौन सी काबिलियत होती है जो उनको इतना rare बनाती है ।
  • क्या उनका दिमाग औरों से अलग होता है ?
  • या उनकी concentration power ज्यादा होती है ?
आखिर क्या हो सकता है ! इसको अगर बारीकी से सोचा जाये तो मेरे सामने एक ही बात निकल के आती है कि ये लोग सीखने पर ज्यादा ध्यान देते है जो कि हर वक़्त किसी ना किसी से कुछ ना कुछ सीखते रहते है । ये बहुत ही interesting point है अगर हम इसे आप समझ गये तो ज़रूर कुछ हो सकता है ।

आईये जानते है कि मै क्या करता हूँ ।

मै सभी को अपने 12th के exams के बारे मे ज़रूर बताता हूँ । मुझे articles लिखने की inspiration भी इसी exam से मिली थी । काफी लोग इसके बारे मे जानते है लेकिन जो नही जानते उनको मै फ़िर से बता देता हूँ । क्योंकि मै commerce stream से हूँ तो हुआ ये कि 12th मे हमारे school मे हमारी stream का कोई भी teacher नही था क्योंकि मै government school से हूँ तो अक्सर कोई ना कोई teacher retire होता रहता था या किसी की transfer होती रहती थी । जिस वजह से commerce department मे कोई भी teacher नही था तो ये हमारी सभी class के लिये बहुत बड़ी problem थी । लेकिन मैने एक दो subjects की अलग से coaching लेनी शुरू कर दी और पूरे साल उन्ही subjects को पढ़ने मे निकाल दिया । हमारी classes वगेरह तो लगती नही थी इसलिये school घूम फ़िर के आ जाते थे । लेकिन जब exams की बारी आयी तो मेरे साथ बहुत ही मज़ेदार एक चीज़ हुई ।
मुझे आज भी याद है कि वो मेरा business study का exam था । दोस्तो टोटल एग्ज़ेम 65 marks का था और मुझे सिर्फ एक ही question आता था वो भी 5 marks का । अब मै एग्ज़ेम हाल मे कभी ईधर देखु तो कभी उधर । पढ़ाने वाला कोई teacher ही नही था तो जाहिर सी बात है कि कौन से question थे ये हमे भी मालूम नही था । ये मेरे लिये एक बहुत बड़ी समस्या बन गयी । अब जब कही से कोई उम्मीद नही थी तो मैने लिखना शुरू कर दिया और लिखते -लिखते सारी sheets भर दी ।
दोस्तो 65 marks का एग्ज़ेम था । मैने 61 का किया क्योंकि मेरी sheets पूरी भर चुकी थी इसलिये मुझे 4 marks के दो questions छोड़ने पड़े और मेरे 61 से 59 marks आये वो भी +A Grade के साथ ।

तो आखिर मैने ऐसी कौन सी trick इस्तेमाल की ।

दोस्तो मैने बहुत ही simple trick used की थी क्योंकि लिखने का flow तो मेरा पहले से ही था,इसलिये मैने ऊन questions से related जो real मे एक businessman करता है उनके बारे मे सोचा और खुद को उस situation मे रख कर देखा कि अगर मै इस situation मे हूँ तो क्या करता ।
दूसरी बात अगर मुझे उस question से related answer का एक word भी पता होता तो मै उसी को आगे बना कर लिख देता । उसी एक word' से मेरी सारी explaining हो जाती और इसी exam के बाद मुझे ये पता चला कि मेरे अंदर लिखने की कला है और आप ये कह सकते है कि article लिखने की inspiration मुझे इसी exam ने दी और आज ये मेरे लिये बहुत फायदेमन्द साबित होती है ।

मै कैसे करता हूँ exam preparation.

चलिये जानते है कि आखिर मेरी preparation कैसी होती है । अगर मै exam मे कुछ गलत भी लिखूं तो बाकी students उसे follow कर जाते है । आखिर क्या - क्या करता हूँ । आइये जानते है । सबसे पहली बात ये है कि मै अपने lectures को पूरे concentrate हो के सुनता हूँ ,ताकि मुझे books की ज्यादा ज़रूरत ना पड़े ।
अगर आपको अच्छा Score करना है तो आपके अंदर दो qualities का होना बहुत ज़रूरी है । सबसे पहली आपकी लिखने की speed अच्छी होनी चाहिये और दूसरी thinking power. आप की thinking power कम से कम इतनी strong होनी चाहिये कि जो भी line  आप लिख रहे हो तो उसे लिखते -लिखते अगली line अपने आप mind मे create हो जानी चाहिये । इससे आपके writing मे एक flow बना रहता है ।
आप exam मे कुछ भी ऐसा वैसा नही लिख सकते । आप को वही लिखना होगा जो उस question से relate करता हो । फ़िर चाहे वो आप book से याद करके लिखो या अपनी language मे लिखो । लेकिन यहाँ पर एक बात ध्यान देने वाली है वो ये कि अपनी language मे लिखने का मतलब ये नही कि आप जैसा सोच रहे हो वैसा ही आप लिख दो ,ये आपकी बहुत बड़ी गलती हो सकती है । इसलिये आप जो भी लिखो वो थोड़ा थ्रेटिकली लिखने की कोशिश करो ताकि examiner को पढ़ने मे थोड़ा अच्छा लगे ।
घर से पढ़ कर ज़रूर जाये,चाहे थोड़ा पड़े या ज्यादा लेकिन ज़रूर पड़े । ताकि आप exam मे कुछ ना कुछ लिख सके ।

Conclusion

Friends जो भी हो fully confident रहे । आप ने लोगो को कहते सुना होगा कि मुझे कुछ नही आता ! पता नही क्या होगा ! कुछ ना आना वो अलग बात है , लेकिन exam से डरते रहना ये हमारे लिये अच्छा नही है । exam is a method of tricks. exam tricks से पास होते है । जुगाड़ से सब होता है । अब जुगाड़ का मतलब ये नही कि आप cheats लेकर चले जाये । इससे मेरा मतलब ये समझाने से है कि आप smarty तरीके से preparation करे । इस बात से मत डरो कि कही मेरी अगर compartment आ गयी तो क्या होगा ? ये ज़रूरी नही है । मै आपको tricks बता रहा हूँ ,हो सकता है कि मेरी भी compartment आ जाये । कोशिश से मत डरिये क्योंकि अगर हम fail भी हो जाये तो कोई फर्क नही पड़ता । हम अपने आस -पास बहुत ही strong boundary बना लेते है और खुद ही उसमे उलझे रहते है ।
मेरे teacher ने मुझसे एक बात कही थी जो मे आज तक नही भुला ,"कि असली student की पहचान तब होती है जब लाइफ उनका इम्तेहान लेती है !वहाँ पर 90% वाले कई बार fail हो जाते है और passing marks वाले record बना जाते है ।"


हम ने अपनी काफी posts मे ये देखा है कि लोग हमारे articles read तो करते है, लेकिन comment बिलकुल nhi करते, अगर आप भी उन लोगो मे से एक है तो please comments जरूर करिये, आपका एक valuable comment हमें नये - नये articles लिखने की प्रेरणा देता है !

"Best of luck for your exams."